Albinder Dhindsa Success Story in Hindi

| |

Albinder Dhindsa की सफलता की कहानी।

Albinder Dhindsa Success Story in Hindi
Albinder Dhindsa Success Story in Hindi

Albinder Dhindsa , grofers.com के सह संस्थापक एवं सीईओ है। grofers.com आनलाईन e – कामर्स कम्पनी है जो लोगों को बेकरी सामान, ग्रोसरी का सामान, फ्रुट और शब्जियां, मीट, बेबी केयर प्रोडक्ट आदि घर बैठे मुहैया करती है।

Albinder Dhindsa प्रथम पीढी़ के बिजनसमैन है जो अपनी विजनेस शैली के लिए जाने जाते हैं। अलबिन्दर का शुरुआत मे बिजनेस करने का इरादा नहीं था, वह परिस्थितिवश बने बिजनेसमैन हैं।

अलबिन्दर ने IIT दिल्ली से टेक्नोलॉजी मे ग्रेजुएशन किया है। कोलंबिया बिजनेस स्कूल – यूनिवर्सिटी आफ कोलंबिया से उन्होंने मास्टर्स आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन ( एमबीए ) किया है।

Albinder Dhindsa का कैरियर

IIT दिल्ली से ग्रेजुएशन करने के बाद Albinder Dhindsa ने 2005 मे URS Corporation के साथ बिजनेस एनालिस्ट के रूप मे काम करना शुरू किया। वहां दो साल तक काम करने के उपरांत 2007 मे Cambridge Systematics को सीनियर एसोसिएट के रूप मे ज्वाईन किया। तीन साल तक काम करने के उपरांत अलबिन्दर ने 2010 मे ये जाब भी छोड़ दी और अपनी एमबीए की हायर स्टडीज़ के लिए यूनाइटेड स्टेट्स ( U S ) चले गये।

एमबीए करने के उपरांत वह भारत वापस लौट आये। यहां आकर उन्होंने  Zomato.com को इंटरनेशनल बिजनेस हेड के रुप मे ज्वाईन किया। यहां पर रह कर उन्होंने grofers पर काम करना शुरू किया।

Grofers की कहानी

Albinder Dhindsa की मुलाकात अमेरिका मे Cambridge Systematics मेे काम करने के दौरान सौरभ कुमार से हुयी। भारत वापस लौटने पन सौरभ कुमार के सम्पर्क मे बराबर रहते थे। यहां पर सौरभ कुमार के बारे मे संक्षेप मे बता देेंं, सौरभ कुमार IIT Bombay से ग्रेजुएशन किया है और मास्टर्स, यूनिवर्सिटी आफ टेक्सास से किया है।

अलबिन्दर और सौरभ को Logistics और डिलीवरी सिस्टम मे भारी अनियमितता देखी जहां पर उन्हें एक बिजनेस माड्यूल डेवलप करने का मौका दिख रहा था।

दिसंबर 2013 मे उन्होंने अपने बिजनेस माडल पर काम शुरू किया। आरंभ मे उन्होंने मेडिकल एजेंसियों, रेस्टोरेंट्स, ग्रोसरी शाप से पिक एंड ड्राप सुविधा शुरू की। यह कस्टमर्स के लिए वन स्टाप सोल्यूशन की तरह है जो उनकी लोकल डिलीवरी की जरूरतों को पूरा करते हैं। उनके 90% आर्डर फार्मेसी और ग्रोसरी डिलीवरी के होते हैं।

Grofres 90 मिनट मे Doorstop डिलीवरी का दावा करता है। Grofers , ब्यापारियों को उनके आस पास के उपभोक्ताओं से मिलाने का कार्य करता है। उन्होंने लोगों के लोकल शापिंग अनुभव को खुशनुमा बना दिया है , अब आप अपने जरूरत का सामान घर बैठे मंगा सकते है। नौकरीपेशा वर्ग जहां पत्नी पत्नी दोनों जाब कर रहे होते है , इस सर्विस से संतुष्ट नजर आते हैं।  विभिन्न केटेगरी मे जैसे ग्रोसरी, बेकरी आयटम, फूल, फल व शब्जियां, मीट, बेबी केयर प्राडक्ट, पेट केयर प्रोडक्ट, इलेक्ट्रॉनिक का सामान आदि लगभग 20000 तरह के प्रोडक्ट्स की डिलीवरी उपभोक्ताओं की सुविधा अनुसार कि जाती है।

वर्तमान मे यह प्लेटफार्म लगभग 10 शहरों अहमदाबाद, बैंगलोर, पुणे, दिल्ली NCR, हैदराबाद, जयपुर, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, लखनऊ मे कार्य कर रहा है।

वर्ष 2005 मे इन्होंने MyGreenBox नाम की कम्पनी खरीदी, जो वरुण धवन द्वारा शुरू की मोबाइल डिलीवरी कम्पनी है। जिसे खरीदने का उद्देश्य ग्रोसरी स्पेस मे इसके अनुभव का लाभ उठाना है।

आज Grofers, 400 से अधिक ब्यापारियों के लगभग 6000 आर्डर की डिलीवरी प्रतिदिन करती है। जो कि लगभग तीन गुना प्रति महीने के हिसाब से बढ रहा है। इसमे काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या लगभग 1000 है जिसमे से 700 डिलीवरी ब्वॉयज है।

दोस्तों आपको Grofers और Albinder Dhindsa की सफलता की कहानी कैसी लगी , नीचे कमेंट बाक्स मे जरूर बतायें।

और भी देखें :

Vijay Shekhar Sharma की सफलता की कहानी

ApnisiBaatey