बिल गेट्स – Motivational Story in Hindi-Bill Gates

| |

बिल गेट्स – Motivational Story – Bill Gates

 
दुनिया के दूसरे सबसे धनी ब्यक्ति Bill Gates किसी परिचय का मोहताज नहीं है, दुनिया में वह अपने कार्यों से जाने जाते हैं। दुनिया की सर्वश्रेष्ठ Software Company “माइक्रोसॉफ्ट” की स्थापना भी Bill Gates के की गई।
 

बिल गेट्स का परिवार

 आंत्रप्रन्योर और बिजनेसमैन बिल गेट्स का वास्तविक तथा पूर्ण नाम विलियम हेनरी गेट्स है। इनका जन्म 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन के सिएटल में हुआ। इनके परिवार में इनके अतिरिक्त चार और सदस्य थे – इनके पिता विलियम एच गेट्स जो कि एक मशहूर वकील थे, इनकी माता मैरी मैक्‍सवेल गेट्स जो प्रथम इंटरस्टेट बैंक सिस्टम और यूनाइटेड वे के निदेशक मंडल की सदस्य थी।
Bill Gates
Bill Gates Motivational Story in hindi

बिल गेट्स का बचपन

 Bill Gates को बचपन से ही कंप्यूटर विज्ञान तथा उसकी प्रोग्रामिंग भाषाओं में रूचि थी। उनकी प्रारंभिक शिक्षा लेकसाइड स्कूल में हुई। तेरह वर्ष की आयु में उन्होंने अपना पहला कंप्यूटर प्रोग्राम लिखा जिसका नाम “टिक-टैक-टो” (tic-tac-toe) तथा इसका प्रयोग कंप्यूटर से खेल खेलने हेतु किया जाता था। बिल गेट्स इस मशीन से बहुत अधिक प्रभावित थे तथा जानने को उत्सुक थे कि यह सॉफ्टवेयर कोड्स किस प्रकार कार्य करते हैं। 

कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग 

 इसके पश्चात गेट्स डीईसी (DEC), पीडीपी (PDP), मिनी कंप्यूटर नामक सिस्टमों में दिलचस्पी दिखाते रहे, परन्तु उन्हें कंप्यूटर सेंटर कॉरपोरेशन द्वारा ऑपरेटिंग सिस्टम में हो रही खामियों के लिए 1 महीने तक प्रतिबंधित कर दिया गया। इसी समय के दौरान उन्होंने अपने मित्रों के साथ मिलकर सीसीसी के सॉफ्टवेयर में हो रही कमियों को दूर कर लोगों को प्रभावित किया। बाद मे उन्होने लेकसाइड के चार छात्रों को जिनमें बिल गेट्स भी शामिल थे, कंप्यूटर समय एवं रॉयल्टी उपलब्ध कराकर कोबोल (COBOL), पर एक पेरोल प्रोग्राम लिखने के लिए किराए पर रख लिया।1973 में वह लेकसाइड स्कूल से पास हुए तथा उसके पश्चात हारवर्ड कॉलेज में उनका दाखिला हुआ 1975 मे वहां से बिना स्नातक हुये बाहर होगये बाद मे उन्होने Intel 8080 चिप बनाया तथा यह उस समय का पर्सनल कंप्यूटर के अन्दर चलने वाला सबसे वढि़या चिप था, तदुपरांत बिल गेट्स ने अपनी कम्पनी आरंभ किया और माइक्रोसॉफ्ट अस्तित्व मे आयी। 
 

माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का उदय

 Bill Gates इसके बाद कम्प्यूटर निर्माण मे लगी कम्पनी MITS के साथ जुड़ गये और इन्होंने कम्पनी के माइक्रो कम्प्यूटर निर्माण मे अहम भूमिका अदा की।
कुछ समय बाद इन्होंने अल्बुकर्क मे अपने साथी के साथ मिलकर माइक्रोसॉफ्ट का आफिस खोला। 
सन् 1976 मे उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट का एक कम्पनी के रूप मे रजिस्ट्रेशन किया।
Bill Gates
Bill Gates Motivational Story Hindi
शीघ्र ही माइक्रोसॉफ्ट का कम्प्यूटर अत्यंत लोकप्रिय हो गया। इसी वर्ष 1976 बिल 
गेट्स MITS से अलग हो गये। अब Bill Gates और उनके मित्र Ally ने प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के लिये Software कर काम जारी रखा। 
 
अब उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट का नया आफिस वाशिंगटन मे खोल लिया था।
प्रारंभिक दिनों मे गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट के लिये बहुत मेहनत की वे कोडिंग से लेकर वित्तीय मामले तक सब खुद देखते थे।
इसके बाद विश्व प्रसिद्ध कंपनी IBM ने 
 माइक्रोसॉफ्ट के साथ काम करने का प्रस्ताव रखा।1981 आते आते माइक्रोसॉफ्ट दुनिया मे बहुत.नाम कमा चुकी थी।
 
इसी वर्ष बिल गेट्स को माइक्रोसॉफ्ट का चेयरमैन एवं निदेशक मंडल का अध्यक्ष 
चुना गया।
 

बिल गेट्स का विवाह 

Bill Gates का विवाह फ्रांस की मेलिंडा के साथ 1994 मे हुआ। दोनों की पहली संतान जेनिफर गेट्स का जन्म 1996 मे हुआ।
उसके बाद उनके दो और बच्चे जान गेट्स और अदेले गेट्स हुये।
 

बिल एवं मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन

सन 2000 मे आंत्रप्रेन्योर और बिजनेसमैन बिल गेट्स ने अपनी पत्नी मेलिंडा गेट्स के साथ मिलकर बिल एवं मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन नामक चेरिटेबल संस्थान की स्थापना की। यह संस्था विश्व भर मे विभिन्न संस्थाओं को दान करता है। 
सन 2000 मे इनके फाउंडेशन ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय को 210 मिलियन डालर छात्रों की स्कालरशिप के लिए दिये।
 
साल 2006 मे उन्होंने घोषणा की कि वह माइक्रोसॉफ्ट के साथ अंशकालिक रूप मे
कार्य करेंगे तथा बिल एवं मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के साथ पूर्णकालिक काम करेंगे।
साल 2008 मे गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट के प्रबंधन कार्य से पूर्णतः विदा ले ली।
 
 
 
 
यह पोस्ट आपको कैसी लगी। कृपया कमेंट बाक्स में कमेंट जरूर करे। आपके कमेंट और सुझावों का स्वागत है।