चाणक्य -Chankya Quotes-Hindi, Chankya Niti Hindi.Indian Teacher.

| |

चाणक्य नीति – Chankya Quotes

चाणक्य,भारतीय अध्यापक और राजकीय सलाहकार जिन्हें कौटिल्य उपनाम से भी जाना जाता है के समय समय पर जीवन, समाज, राज्य और सरकारों के बारे मे अपने विचार ब्यक्त किये है उनमें से कुछ निम्नांकित है।

Chankya Quotes in Hindi

  1. जो धैर्यवान नहीं है उसका न वर्तमान है न भविष्य।
 
    2. विद्या ही निर्धन का धन है उसे चोर भी नहीं चुरा सकता है।
 
    3. शत्रु के गुणों को भी ग्रहण करना चाहिए।
 
    4. निर्बल राजा को तत्काल संधि करनी चाहिए।
 
     5. राज्य को नीतिशास्त्र के अनुसार                
     चलना चाहिए।

Chankya Quotes in Hindi

 
     6. शत्रु के प्रयासों की समीक्षा करते 
 
         रहना चाहिए।
 
     7. बलवान से युद्ध करना हाथियों से 
 
       पैदल सेना  को  लडाने के बराबर है।
 
      8. पूर्वाग्रह से ग्रसित होकर दंड देना 
 
         लोकनिंदा का कारण बनता है।
 
      9. दंडनीति के उचित प्रयोग ही प्रजा
 
        की रक्षा सम्भव है।

Chankya Quotes in Hindi

 
      10. दंडनीति प्रभावी न होने से   
 
        मंत्रिगण अप्रभावी जनता बेलगाम.    
 
         हो जाती है।
 
      11. निर्बल राजा की आज्ञा की 
 
          अवहेलना कदापि नहीं करनी 
 
          चाहिए।
 
      12. कार्य के मध्य मे अति विलंब 
 
          और आलस्य  उचित नहीं है।
 
      13. भाग्य के विपरीत होने पर अच्छा 
 
          कर्म भी दुखदायी हो जाता है।
 
      14. समय को समझने वाला कार्य 
 
           सिद्ध करता है।
 
      15. अज्ञानी ब्यक्ति के कार्य को 
 
         अधिक महत्व नहीं देना चाहिए।
    
     16. मूर्ख लोग कार्य के मध्य कठिनाई 
 
         उत्पन्न होने दोष ही निकला करते है।
 
      17. कार्य की सिद्धि के लिये उदारता                
          नही  बरतनी चाहिए।
      
        
 यह पोस्ट आपको कैसी लगी। कृपया कमेंट बाक्स में कमेंट जरूर करे। आपके कमेंट और सुझावों का स्वागत है।
और देखे :

आइंस्टाइन- Elbert Einstein – Quotes

ApnisiBaatey