गुस्से को कैसे शांत करें। Gussa Kaise Control Kare

| |

गुस्से को कैसे शांत करें । Gussa Kaise Control Kare. Gussa Kaise Kam Kare.

gussa kaise control kare
Gussa kaise control kare

अधिक गुस्सा हमारे जीवन मे बहुत सी परेशानियां खड़ी कर देता है इस लेख मे यह समझेंगे कि गुस्से को कैसे शांत करें (Gussa kaise control kare)। गुस्से को शांत करने के उपायों को जानने से पहले हम यह समझेंगे कि गुस्सा क्या है।

गुस्सा क्या और यह हमें क्यों आता है ? और गुस्से को कैसे शांत करें: ( Gussa kaise control kare )

सबसे पहले तो हम यह समझ ले कि यह कोई बीमारी नहीं है। किसी को कम और किसी को अधिक गुस्सा आता ही है। गुस्सा मानवीय भावनाओं की सहज अभिब्यक्ति है।

गुस्सा जब तक आपके अधीन होता होता है, अर्थात गुस्से को जब आप ठीक तरह से हैंडल कर पाते हैं तब तक यह कोई समस्या नहीं है लेकिन जब आप गुस्से के अधीन हो जाते है तब यह कई दूसरी समस्याएं खड़ी कर देते है , जैसे आपके रिलेशनशिप मे दरार आ सकती ,पारिवारिक संबंध खराब हो सकते है, आफिस मे बॉस के साथ और लाइफ मे दोस्तों के साथ संबंध बिगड़ सकते है।

कहने का मतलब अनियंत्रित क्रोध आपके लिए मुसीबत खड़ी कर देता है। क्रोध मे बोले गये शब्द आपको पछतावे के सिवाय और कुछ नहीं देते। इसलिये जरूरी है कि क्रोध हमेशा हमारे नियंत्रण मे रहे।

बुद्धिमान ब्यक्ति वही है जो क्रोध मे अनुचित बात अपने मुंह से नहीं निकालता है।

कुछ लोगे गुस्सैल स्वभाव के होते तो है लेकिन मानते नहीं हैं कि वह गुस्सा भी करते है। ऐसे मे गुस्से के कुछ Sign है जिन्हें पहचान कर हम समझ सकते हैं कि हमे गुस्सा आ रहा है,

  • बात बात मे चिडचिडापन
  • दूसरों के लिए कठोर शब्दों का प्रयोग
  • हर चीज के लिए दूसरों को दोषी ठहराना
  • सामने आने वाले हर ब्यक्ति से उलझना
  • सामने वाले को नीचा दिखाने की कोशिश करना
  • परिवार वालो बच्चों का आप से बात करने मे घबराना

गुस्से को शांत कैसे करें ( Gussa kaise control kare )

1.उस स्थान को छोड़ दे:

गुस्सा आने पर सबसे पहले उस स्थान, उस परिस्थिति से हट जाये, इससे यह होगा, जो बाते आपको गुस्सा दिला रही है वे चीजे आपके सामने से हट जायेंगी और आपका गुस्सा कम होने लगेगा। वहां से आपको स्वयं ही हटना होगा, सामने वाले से हटने की उम्मीद बिल्कुल भी न करें।

2.गुस्से का कारण जानने की कोशिश करें:

इसके बाद आपको गुस्से का कारण जानने का प्रयास करना चाहिए। यह आंतरिक अथवा बाह्य अथवा दोनों ही हो सकते हैं। आंतरिक कारण मे गुस्सा आने की वजह आपके भीतर ही होती है, जैसे रात को ठीक से नींद न ले पाना, या फिर भविष्य की किसी बात की चिंता रहना।

बाहरी कारण आपके वर्कप्लेस पर हो सकते हैं, क्योंकि घर के बाद आपका सबसे अधिक समय वहीं पर गुजरता है जैसे बॉस से किसी बात मे अनबन, इसके भी कई कारण हो सकते है जैसे बॉस का आपके काम को कोई अहमियत न देना, या फिर कोई ऐसा काम जो आपको पसंद न हो, या फिर कलीग्स द्वारा अनुचित ब्यवहार आदि कुछ बाते है जो आपे गुस्से का कारण बन सकती है । आफिस मे काम का दबाव भी कारण हो सकता है।

याद रखे सही कारण जाने बिना आप उसका ठीक निवारण कर पायेंगे और बार बार वही बिहेवियर दिखाते रहेंगे।

3. अच्छी नींद लें:

कभी इस तरह की परिस्थिति आने पर सबसे बुरा असर नींद पर पडता है इसलिए 7-8 घंटे की नींद जरूरी है, ऐसा न करने पर अन्य दूसरी समस्याएं खडी हो सकती है। स्वस्थ रहने के लिए वैसे भी सात आठ घंटों की नींद जरूरी है। अच्छी नींद से विशेष प्रकार का हार्मोन बनता है जो चुनौतीपूर्ण स्थितियों से निबटने मे मदद करता है।

4.योगा और एक्सरसाइज करे:

अपने गुस्से को कैसे कंट्रोल करे (apna gussa kaise control kare) इसके लिए जिम कर सकते है या फिर स्वीमिंग कर सकते है। इसके लिए योग का भी सहारा ले सकते हैं। माइंडफुलनेस के अभ्यास से भी गुस्से को कंट्रोल किया जा सकता है।

5. संगीत सुने:

संगीत मे बहुत ताकत होती है गुस्सा आने के बाद कहीं शांतिपूर्ण माहौल मे जाकर संगीत का आनंद ले। इससे स्ट्रेस लेवल और गुस्सा दोनों ही कम होंगे।

6. नशीले पदार्थों का सेवन करे बंद:

हर वो चीज जो शरीर मे उत्तेजना बढाती हो उसका सेवन बंद कर देना चाहिए। नशा किसी भी प्रकार का हो सेहत के लिए वैसे हानिकारक होता है। अतः इसमे किसी भी प्रकार के नशे का सेवन तुरंत बंद कर दें।

दोस्तों आपको इस लेख गुस्से को कैसे शांत करें (Gussa kaise control kare) के बारे मे अपने विचारों से अवश्य अवगत करें।

और देखें:

कभी हार मत मानो ।

प्रतिक्रिया आपको महान बना सकती है। 

मेडिटेशन क्या है और इसे कैसे करें।

इमोशनल इंटेलीजेंस बेहद जरुरी है।

ApnisiBaatey