Hari Menan-हरि मेनन -बिग बास्केट सीईओ की सफलता की कहानी

| |

Hari Menan-हरि मेनन -बिग बास्केट सीईओ की कहानी

Hari Menan , भारतीय उद्यमी , बिग बास्केट सीईओ और सह- संस्थापक की प्रेरणादायक कहानी आपको प्रेरित करेगी । जिन्होंने भारतीय किराने की खरीददारी के पारम्परिक स्वरुप को  बदल दिया हे। भारत में खुदरा किराना 10% मिश्रित वार्षिक ब्याज दर ( CAGR ) से बढ़ रहा हे. इसका एक बड़ा हिस्सा शहरी क्षेत्रो से आने वाला है। इस बढ़ते क्षेत्र को भुनाने के लिए मार्किट बहुत से स्टार्टअप आये उनमे से प्रमुख है ” Bigbasket “।

हरि मेनन उन भारतीय उद्यमियों में से एक हे जिन्होंने अपने जीवन में अपनी उद्यमशीलता और संघर्ष से मार्किट के बिलकुल नए सेगमेंट में कदम रखा तथा अपने निर्णायक और साहसी प्रयासों से सफलता हांसिल की।

Hari Menan का प्रारंभिक जीवन

Hari Menan का जन्म  1963 में  एक मध्यमवर्गीय परिवार में मुंबई के बांद्रा वेस्ट इलाके में हुआ था। उनका विवाह मेट्रो मेन ई . श्रीधरन की बेटी शांति मेनन से हुआ था। वही ई श्रीधरन जिन्होंने डेल्ही मेट्रो की सफलता की कहानी लिखी हे। उनकी पत्नी शांति बंगलोर स्थित ” द डेंस अकादमी ” की प्रिंसिपल थीं।

बिग बास्केट की स्थापना करने से पहले, हरी ने कई कंपनियों के लिए सीईओ के रूप में कार्य किया, जिनमें टुरी, सेरस कॉर्पोरेशन और टिमेली शामिल हैं।

Hari Menan की शिक्षा और कैरियर

हरि ने बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पिलानी से स्नातक की पढ़ाई पूरी की। उन्होंने कार्नेगी मेलन विश्वविद्यालय से एमबीए (मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन) की डिग्री हासिल की है।

Hari Menan का क्रिकेट और संगीत के प्रति अच्छा लगाव हे, वे ” कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन ” के सदस्य भी हे।

हरि मेनन ने अपने केरियर की शुरुआत भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी विप्रो से की। वह विप्रो में बिज़नस हेड थे। विप्रो एक परामर्श, सूचना प्रोद्योगिकी एवं ब्यवसायिक सेवाएँ प्रदान करता हे। 

बिगबास्केट

बिगबास्केट  को शुरू करने से पहले हरि ने बिगबास्केट के संस्थापक सदस्यों के साथ मिलकर फेबमार्ट को भारत में इ कॉमर्स में अग्रणी बनाया। फेबमार्ट एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है, जो आज अमेजन, फ्लिपकार्ट के समान कार्य करता है। फेबमार्ट भारत में ई-कॉमर्स में अग्रणी में से एक था।

उन्होंने फेबमार्ट की ऑनलाइन सेवा के बाद अब उसकी रिटेल चेन को मार्किट में उतरा और बाज़ार में अपने रिटेल स्टोर खोले। उन्होंने मार्किट में उस समय मौजूद अन्य रिटेल स्टोर्स के साथ tieup किया. उन्होंने अपने रिटेल चैन का विस्तार तमिलनाडु,आंध्र प्रदेश, कर्णाटक और केरल में लगभग 300 रिटेल स्टोर्स खोले। लेकिन बाद में उन्होंने इसके कारोबार को आदित्य बिरला ग्रुप को बेचने का फैसला किया।

कुछ घरेलू कारणों से फेबमार्ट वांछित सफलता प्राप्त न कर सका, जैसे भारत में स्थितियां किसी भी ऑनलाइन उद्यम के अनुकूल न होना, कोई उचित पेमेंट गेटवे का न होना , इन्टरनेट सेवाओ का पर्याप्त विस्तार न होना आदि आदि।

इसके बाद हरि मेनन ने अपने साथियों विपुल पारेख , वी सुधाकर, अभिनव चौधरी और एस रमेश के साथ मिलकर बिग बास्केट की स्थापना की।

बिगबास्केट भारत में अग्रणी सुपर मार्किट किराना स्टोर्स में से एक हे। जो लगभग 15000 से अधिक उत्पादों और 1000 से अधिक ब्रांडो के साथ भारत में सबसे बसे ऑनलाइन फ़ूड और ग्रोसरी स्टोर्स के रूप में काम करता हे। 

बिगबास्केट आपको सर्वोत्तम गुणवत्ता वाले उत्पादों की एक बिस्तृत श्रंखला प्रदान करता हे, जिनमे चावल, दाल, फल, शब्जियाँ, मसाले, पैक्ड फ़ूड , पेय पदार्थ और पर्सनल केयर प्रोडक्ट आदि शामिल है।

वर्तमान में, ऑनलाइन किराने की दुकान बैंगलोर, पुणे, चेन्नई, हैदराबाद, मुंबई, दिल्ली, नोएडा, विजयवाड़ा-गुंटूर, मैसूर, कोयम्बटूर, कोलकाता, अहमदाबाद-गांधीनगर, वडोदरा, विशाखापत्तनम, लखनऊ-कानपुर, गुड़गांव, सूरत, नागपुर में कहीं भी डिलीवर होती है।

कंपनी समय पर डिलीवरी, और सबसे अच्छी गुणवत्ता की गारंटी देती है! आप डिलीवरी पर नकद, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या सोडेक्सो का उपयोग करके ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं।

मुझे विश्वाश हे कि Hari Menan और Big Basket की सफलता की कहानी आपको अवश्य प्रेरित करेगी।

ApnisiBaatey