मेडिटेशन क्या है और इसे कैसे करें ? How do meditation in hindi

| |

How do Meditation in hindi. मेडिटेशन क्या है और इसे कैसे करें ?

how do meditation in hindi
How do meditation in hindi

How do Meditation in Hindi- मेडिटेशन कैसे करते है, यह जानने से पहले जरा हम यह जान लेते है कि मेडिटेशन क्या है ( What is meditation in Hindi) मेडिटेशन या ध्यान लगाना भारतीय संस्कृति की प्राचीनतम विधाओं मे से एक है जैसे कि योगा है। लोग अक्सर योग और ध्यान को एक ही समझ लेते है लेकिन बुनियादी तौर पर दोनों मे बडा फर्क है।

” योग मे जहां मुख्य फोकस मानव शरीर पर होता है , वहीं ध्यान मे यह मन पर होता है”।

मेडिटेशन क्या है ( What is Meditation in Hindi / What is the meaning of Meditation in Hindi)

मेडिटेशन या ध्यान लगाना एक अभ्यास है जिसमें मन, मस्तिष्क और शरीर को एक ही विचार , वस्तु या गतिविधि पर केन्द्रित करना होता है। इसका अभ्यास किसी विचार या वस्तु के प्रति हमारे विचार एवं दृष्टिकोण को सुस्पष्ट एवं दृढ़ बनाता है। जिससे हमे मानसिक शांति और स्थिरता मिलती है।

मेडिटेशन क्यों जरूरी है?

मेडिटेशन या ध्यान लगाने की जरूरत ही क्या है। आपने अक्सर महसूस किया होगा लगातार  कुछ घंटों तक टीवी या फिल्म देखने से हमारी आंखें दर्द करने लगती हैं और हमे टीवी बंद करना पडता है। हमारे पास टीवी का रिमोट होता है। और हम उससे उसे स्विच आफ कर सकते है। लेकिन हमारे मन का कोई रिमोट नहीं होता जिससे उसमें आने वाले विचारों को बंद किया जा सके।

हमारा मन बहुत चंचल होता है इसमे एक मिनट मे हजारों विचार आते जाते रहते हैं। अब सभी विचारों की गंभीरता एक समान तो नहीं होती है, कुछ विचार अति गंभीर किस्म के तो कुछ फालतू भी हो सकते है। अब इतनी अधिक संख्या मे विचारों के आने जाने से मन की कंडीशनिंग इस तरह से हो जाती है कि वह गंभीर और गैर जरूरी विचारों एक समान तरीके से ट्रीट करता है। फलस्वरूप गंभीर विचारों पर अधिक फोकस नहीं बनता है और इसी फोकस को बढाने के लिये मेडिटेशन या ध्यान करना पड़ता है।

मेडिटेशन कैसे करें ( How do Meditation in hindi )

मेडिटेशन कई प्रकार का होता है जैसे डीप मेडिटेशन, थर्ड आई मेडिटेशन, माइंडफुलनेस मेडिटेशन, ओम शांति मेडिटेशन, मंत्रा मेडिटेशन आदि।

मेडिटेशन करने के लिये शांत माहौल का होना जरुरी है। इसके लिये सुबह पांच बजे तथा सांय को सात बजे के आसपास का समय अच्छा रहता है। वैसे तो यह किसी भी वक्त किया जा सकता है, लेकिन शुरुआत मे समय का ध्यान रखना जरुरी है। आइये अब जानते है मेडिटेशन कैसे करें,

01. सही समय का चुनाव करें:

मेडिटेशन के लिये वक्त की कोई पाबंदी नहीं है फिर भी अगर आप शुरुआत कर रहे है तब सुबह या शाम का वक्त इसके लिये ठीक रहेगा क्योंकि किसी चीज की शुरुआत करने के लिये रास्ते मे ब्यवधान नहीं होना चाहिए और इस समय सर्वाधिक शांति रहती है।

02. शांत जगह का चुनाव:

मेडिटेशन के लिये शांत जगह का चुनाव करना चाहिए। कम से कम शोर वाली जगह का चुनाव करे।

03. आरामदायक स्थिति मे बैठ जाये:

इसके बाद आप एक आरामदायक स्थिति मे बैठ जाये। लम्बे समय तक बैठने के लिये आरामदायक स्थिति जरूरी है। इस वक्त आपका ध्यान आपके सही स्थिति मे बैठने पर होना चाहिए। कमर सीधी रहनी चाहिए।

04. अब धीरे धीरे लम्बी गहरी सांस अंदर खींचे:

धीरे धीरे लम्बी गहरी सांस ले। और उसे धीरे धीरे छोड़े। शरीर एकदम रिलैक्स रहना चाहिए। आप सांस को अंदर लेने और उसे छोडने को महसूस करें।

05. चेहरे पर मुस्कान रखें:

मन मे कोई अन्य विचार न आने पाये मन को तनाव मुक्त तथा चेहरे पर मुस्कान होनी चाहिए। बस अपनी सांसो के अंदर और बाहर जाने को महसूस करते रहे। विधि पूरी होने पर आंखों को धीरे धीरे खोलें एवं शांति का अनुभव करें।

मेडिटेशन के बारे मे मेरा अनुभव यह है कि केवल मेडिटेशन कैसे करे (How do meditation in hindi) यह पढने मात्र से आप इसके मिलनेवाले फायदों के बारे मे ठीक तरह से अनुभव नहीं कर पायेंगे, कुछ दिन के लिये इसे अवश्य करके देखें, शांति और सकारात्मक उर्जा का संचार अनुभव करेंगे, मन आसानी से विचलित नहीं होगा।

इस लेख के बारे मे अपने विचार हमें कमेंट के माध्यम से अवश्य बतायें।

और देखें:

इमोशनल इंटेलीजेंस बेहद जरुरी है। 

माइंडफुलनेस मेडिटेशन क्या है ?

अत्यधिक सोचना क्या है ? 

खुद को पहचानों। 

जीतने के लिये खुद पर भरोसा रखे। 

 

ApnisiBaatey