Law of Attraction in Hindi:आकर्षण का नियम

| |

What is Law of Attraction in Hindi- आकर्षण का नियम क्या है।

आकर्षण का नियम ( Law of Attraction in Hindi ) जब ये शब्द हमारे सामने आते हैं तब ऐसा लगता है, रहस्यमयी राज हमारे सामने खुलने वाला है, ऐसा इसलिए भी है कि इस विषय पर ज्यादातर लेख पश्चिमी लेखकों के है चाहे वह पुस्तक की शक्ल मे हो या किसी मूवी या फिर इंटरनेट पर उपलब्ध कंटेंट की शक्ल हो, पश्चिमी लेखकों ने इसे रहस्यमयी विषय बना दिया है, इसकी वजह कुछ भी हो सकती है, सीक्रेट शब्द के प्रस्तुत जानकारी के राज को हर कोई जानना चाहेगा। जबकि ऐसा वस्तुतः ऐसा है नहीं, ऐसा मेरा मत है।

Law of Attraction in Hindi
Law of Attraction

अब चलिये वापस विषय की ओर लौटते है, ” आकर्षण के नियम के द्वारा हम अपने जीवन मे मनमाफिक परिणाम ला सकते है, सकारात्मक विचारों के परिणाम सकारात्मक होते हैं, इसी प्रकार नकारात्मक विचारों के परिणाम  नकारात्मक होंगे, इस नियम के अनुसार हमारे विचार ( thoughts ) जो की एक उर्जा का रुप है, हमारे जीवन के हर पहलू मे हेल्थ, फायनेंस या फिर रिलेशनशिप हो, सफलता को अपनी ओर आकर्षित करती है।” सीधे शब्दों मे कहें सकारात्मक उर्जा अपनी ओर सकारात्मक परिणाम को आकर्षित करती है, और नकारात्मक उर्जा नकारात्मक परिणाम को।

क्या आकर्षण का सिद्धांत काम करता है ( Law of Attraction in Hindi )

इंटरनेट पर इस विषय पर बहुत सारी सामग्री उपलब्ध है, लेकिन मै इस विषय से संबंधित एक महत्वपूर्ण पहलू की और आपका ध्यान आकर्षित करना चाहता हूं,

हालिया समय मे ” The Secret ” जैैसी पुस्तक और मूवी ने पाठकों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। हालांकि मैंने यह पुस्तक पढी नही है।

पश्चिमी लेखकों की बात पर जाये तो आकर्षण के सिद्धांत “( Law of Attraction in hindi )” के बारे दो बाते वे प्रमुखता से कहते है। जो कि सही प्रतीत नहीं होती हैं।

1. उनके अनुसार यह एक सीक्रेट है, जिसका जिक्र मैं ऊपर भी कर चुका हूं।

2. इसका कोई साइंटिफिक एविडेंस नहीं है, कि यह नियम काम करता ही करता है।

अब एक एक करके दोनों के बारे मे जानेंगे,

हमारे जीवन की 99% घटनाओं चाहे वह किसी भी प्रकार की हो, आकर्षक का नियम ( Law of Attraction in Hindi ) काम करता है। चाहे हम इस नियम को जानते है अथवा नहीं यह हमारे जीवन को हर हाल मे प्रभावित करता है। लोगों को बहुत अधिक इसके बारे मे पता नहीं है , और पता है भी तो इससे लाभ कैसे लिया जाये इसकी जानकारी नहीं है। और अगर हमें किसी चीज की जानकारी नहीं है, तब वह हमे रहस्य ही लगेगा। इस विषय की जटिलता इसे रहस्यमयी बना रही है।

दूसरा उनके अनुसार इसका कोई साइंटिफिक एविडेंस नहीं है, जबकि मेरा स्पष्ट मानना है, जो बात या विचार मनुष्य से संबंधित है, उसका साइंटिफिक एविडेंस न हो ऐसा नहीं हो सकता है। मानव दिमाग का ई. सी. जी. तो आपने देखा ही होगा , मानीटर पर जिग जैग लाइनें जोकि उर्जा का ही परिवर्तित रूप है। यह मनुष्य मस्तिष्क के अंदर होने वाले कंपन का इलेक्ट्रॉनिक स्वरूप है, उसी प्रकार विचारों मे भी कंपन या वाइब्रेशन होती है। इन वाइब्रेशन की अपनी आवृत्ति होती है, जिसकी अपनी उर्जा होती है। यह उर्जा हमेशा हमारे विचारों के अनुसार होती है।

आकर्षण के 3 नियम क्या हैं ( What are the 3 Law of Attraction in hindi ).

आकर्षण के सिद्धांत के तीन उप नियम हैं ,

A. समान विचार एक दूसरे को अपनी ओर आकर्षित करते हैं –

आपने भी देखा होगा समान विचारों वाले लोग एक दूसरे को पसंद करते हैं, यहां पर लोग नहीं उनके विचार उन्हें अपनी ओर खीचते हैं। विचार सोच का परिणाम होती है, सकारात्मक विचार सकारात्मक परिणाम देगा, जबकि नकारात्मक विचार के परिणाम नकारात्मक परिलक्षित होंगे।

B. प्रकृति खालीपन पसंद नहीं करती है –

यह नियम बताता है यदि हम अपने दिमाग से नकारात्मक विचारों को हटा दे, तब हमारे जीवन मे सकारात्मक विचारों के लिये जगह बन जाती है, जिससे सकारात्मक परिवर्तन लाया जा सकता है, क्योंकि पूर्णतया खाली दिमाग संभव नहीं है। हर वक्त इस खाली जगह को भरने के लिए नेचर तत्पर रहती है अतः इस खाली जगह को सकारात्मकता ( Positivity) से भरें।

C. वर्तमान सर्वश्रेष्ठ है-

यह नियम बताता है जीवन को बेहतर बनाने के लिये वर्तमान सर्वश्रेष्ठ है, हमेशा हमारे पास जीवन को बेहतर बनाने के विचार उपलब्ध है। हमेशा दुखी और असहाय महसूस करने के बजाय अपनी उर्जा पर फोकस करके जीवन को बेहतर बनाने के उपाय खोजे जाने चाहिए।

आकर्षण के नियम का कैसे अभ्यास करें- ( Law of Attraction in hindi )

आकर्षण के नियम ( Law of Attraction in hindi ) आप अपनी सोच को वास्तविकता मे बदल सकते हैं। इसके अनुसार आप जो विश्वास करे कि ऐसा होना चाहिए, वैसा ही होता है।

इस नियम को अपने जीवन मे उतारने के लिये आपको कुछ बातें अपने जीवन मे शामिल करनी होंगी,

  • हमेशा नेचर का शुक्रिया अदा करें।
  • अपना लक्ष्य निर्धारण ( Goal setting )
  • हर स्थिति मे सकारात्मकता को खोजे।
  • नकारात्मक बातों या स्थितियों को पहचान करना सीखें, उनसे दूर रहें।
  • सकारात्मक अफरमेशन का अभ्यास करे।
  • नकारात्मक स्थितियों का सकारात्मकता के साथ सामना करें।

यद्यपि आकर्षण के नियम ( Law of Attraction in hindi ) के द्वारा जीवन की सभी चुनोतियो का तुरंत निदान संभव नहीं हैं तथापि हम इस नियम की सहायता से जीवन की समस्याओं का आशावादी तरीके से सहज समाधान करना सीख सकते हैं।

दोस्तों आकर्षण का नियम ( Law of Attraction in hindi ) पर जानकारी आपको कैसी लगी, कमेंट बाक्स मे जरूर बतायें।

 

और भी देखें:

Power of Positive Thinking – सकारात्मक सोच की शक्ति।

1 thought on “Law of Attraction in Hindi:आकर्षण का नियम”

Comments are closed.

ApnisiBaatey