प्रेरणादायक भाषण हिंदी में [ 2 ]। Motivational Speech in Hindi

Motivational Speech in Hindi / Motivational Speeches Hindi / Inspirational Speech in Hindi. प्रेरणादायक भाषण हिंदी में।

Motivational Speech in Hindi – दोस्तों हम आपके लिए समय समय पर मोटिवेशन से सम्बंधित कहानियां और टिप्स लेकर आते रहते है, आज के इस लेख में ऐसी ही मोटिवेशनल कहानी ( Motivational Speech in Hindi ) लेकर आये है जो निश्चित रूप से आपका मनोबल बढ़ाएगी और आपको प्रेरित भी करेगी। क्योंकि आज के गाला काट प्रतियोगिता वाले इस दौर में ऐसी ही मोटिवेशनल कहानियां ( Motivational Story in Hindi for success )  हमारा उत्साह बढाती है और हम सफलता की ओर अग्रसर होते हैं।

प्रेरणादायक भाषण हिंदी में । Motivational Speech in Hindi.

Motivational Speech in Hindi

दोस्तों जो कहानी में आपको बताने जा रहा हूँ , हो सकता है ये कहानी आपने कही पढ़ी हो, लेकिन ये कहानी ऐसी ही है इसे आप जितनी बार पढ़ लो , आपको प्रेरित करेगी, क्योंकि मेरे खुद के साथ ऐसा ही है, तो चलिए शुरू करते है,

एक राजा था , उसके पास बड़ा सा राज्य हुए सेना भी थी, एक दिन अचानक उनका एक मंत्री आया और बोला , राजन , पड़ोस का राज्य हम पर तीन दिन में हमला करने वाला है, राजा ने पूछा खबर पक्की है, मंत्री ने कहा जी खबर एक दम पक्की है , राजा चिंता में पड़ गए , क्योकि पड़ौस के राज्य की सेना बहुत विशाल थी, और अगर ऐसा होता है तो सबका मरना तय था।  राजा ने तुरंत ही अपनी सभा बुलाई और सबको इस खबर के बारे में बताया।

राजा ने सभी सभासदों से पूछा ऐसी स्थिति में हमें क्या करना चाहिए , इसपर उनका एक चतुर मंत्री बोला राजन, हमें तुरंत ही पड़ोसी राज्य पर हमला कर देना चाहिए, राजा ने कहा इससे क्या होगा, मंत्री ने कहा राजन , उन पर अकस्मात् हमला करने से यह होगा कि उन्हें संभलने का मौका नहीं मिलेगा, वैसे भी उनके हमला करने पर हमें तो मरना ही है, उनपर पहले ही हमला करने से हो सकता है हम युद्ध जीत जाएँ, ऐसे में कुछ संभावनाएं तो बनती ही है, राजा को मंत्री का यह विचार पसंद आया और राजा ने तुरंत ही पड़ोस के राज्य पर हमला करने का आदेश दे दिया।

उनकी सेना ने राज्य पर हमला बोल दिया और उनकी सेना पड़ोस के राज्य में घुस गयी, पड़ोस के राज्य में जाने से पहले एक पुल पड़ता था, राजा की सेना जैसे ही उस पुल को पार की, राजा ने अपने सैनिको से उस पुल को नष्ट करने को कह दिया , राजा ने अब अपने सैनिको से कहा अब वापस जाने का कोई रास्ता नहीं है, आपके पास सिवाय जोरदार हमले के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है, और राजा के सैनिकों वैसा ही किया , अचानक हुए इस हमले से पड़ोस के राज्य में अफरातफरी मच गयी , क्योंकि वे इस स्थिति के लिए बिलकुल भी तैयार नहीं थे। अंततः जीत राजा की हुई।

मोरल :

इस कहानी में राजा की सेना के पास कोई प्लान B नहीं था, उनके पास सिर्फ प्लान A ही था, और वे उसमे सफल रहे, दोस्तों इसी तरह से हमारे जीवन में भी होता है, जब हमारे पास कोई प्लान B नहीं होता है , सिर्फ प्लान A ही होता है और हम पूरी ताकत के साथ उस प्लान पर काम करते है, तो हमारे सफल होने के चांस काफी बढ़ जाते है, इसलिए दोस्तों अगर सफलता प्राप्त करनी है तो कोई प्लान B न बनाये, इससे आपका कमिटमेंट और फोकस दोनों ही बंट जाते है। हमारा दिमाग Do और Die सिचुएशन में बेहतर ढंग से काम करता है।

Motivational Speech in Hindi / Inspirational Speech in Hindi. प्रेरणादायक भाषण हिंदी में।

motivational story in hindi

एक बार जंगल में एक हिरण होता है, उसे बहुत तेज प्यास लगी रहती है, वह पानी की खोज में भटकता रहता है लेकिन उसे कहीं भी पानी नहीं मिलता है, अंत में वह थक हार कर एक झाड़ी के किनारे बैठ जाता है, थोड़ी देर बात उसका ध्यान बहते पानी की आवाज पर जाता है, वह अपने स्थान से उठकर जिधर से आवाज आ रही होती है चल पड़ता  है, सामने देखा तो नदी बहती नजर आती है, वह पानी पीने के लिए नदी के किनारे जाता है,

जब वह हिरण नदी के किनारे पहुंचता है थोड़ा रुकता है, अपने दाएं क्या देखता है एक शिकारी धनुष बाण लिए खड़ा है, फिर वह अपने बाये ओर देखता है एक शेर खड़ा होता है , उसके दोनों ओर मुसीबत खड़ी है फिर वह अपने पीछे देखता है, तो उसे आग ही आग नजर आती , और सामने की तरफ नदी बह रही होती है, यानी चारो तरफ मुसीबत ही मुसीबत नजर आती है।

वह पानी पीना भूल जाता है , और मुसीबत के बारे में  सोचने लगता है, उसे कहीं से भी बचने की सूरत नजर नहीं आती है , उसे लगा अब मौत तो पक्की, क्यों न पानी पी लिया जाये, वह धीरे धीरे नदी के किनारे की और बढ़ता है और पानी पीने लगता है, इतने में बहुत तेज बारिश होने लगती है।

वह अपने पीछे की तरफ देखता है तो आग बुझ चुकी होती ,और शिकारी तथा शेर भी उसे कहीं नजर नहीं आते , क्योकि जब वह पानी पीने के लिए आगे बढ़ा तो शिकारी और शेर आमने सामने होते है , उसके बाद दोनों ही नजर  नहीं आते है, अब उसके सामने से सभी मुसीबतें गायब हो चुकी थी।

मोरल :

इस कहानी का मोरल यह है कि जब भी मुसीबत आती है चारों तरफ से आती है, उस समय यदि हम अपना विवेक खोये बिना धैर्य से काम ले , तो मुसीबतों से पार पाया जा सकता है, और हम अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकते है, इस कहानी में भी हिरण अपना धैर्य खोकर इधर उधर भागने लगता तो अवश्य ही मारा जाता , इस कहानी से हमें यह  सीख मिलती है जब हमें कोई रास्ता नजर नहीं आता है तो धैर्य और विवेक से काम लेना चाहिए, चाहे कितनी भी प्रतिकूल परिस्थितियां वह हमेशा नहीं रहती है।

अंतिम शब्द :

दोस्तों आपको ये प्रेरणादायक भाषण  हिंदी में  ( Motivational Speech in Hindi ) कैसी लगी , नीचे कमेंट में हमें जरूर बताये, हम आपके लिए ऐसी प्रेरणादायक कहानियां / स्पीच आगे भी लाते रहेंगे।

ये भी देखें :

डाकू अंगुलिमाल साधू कैसे बना।

भगवान का शुक्रिया।

लघु प्रेरणादायक कहानी।

कभी हार मत मानो।

आपकी प्रतिक्रिया आपको महान बनाती है।

Leave a Comment

ApnisiBaatey