ओलंपिक मेडलिस्ट नीरज चोपडा़ की जीवनी। Neeraj Chopra Biography in Hindi

| |

Neeraj Chopra Biography in Hindi. नीरज चोपडा़ की जीवनी। नीरज चोपडा़ की बायोग्राफी। Neeraj Chopra Biography. Neeraj Chopra Bio.

neeraj chopra biography in hindi
Neeraj Chopra

नीरज चोपडा़ ( Neeraj Chopra Biography in Hindi )  ट्रेक एंड फील्ड एथलीट है, जिन्होंने 2020 टोक्यो ओलंपिक मे जैवलिन थ्रो ( भाला फेंक ) प्रतियोगिता में गोल्ड मैडल जीत कर हरियाणा और भारत का नाम दुनियां भर मे रोशन किया है।

नीरज चोपडा़ के मेडल :

ओलंपिक मे भारत को यह गोल्ड काफी समय बाद मिला है। उन्होंने गोल्ड मेडल 7 अगस्त 2021 को अपने दूसरे प्रयास मे 87.58 मीटर भाला फेंक कर हांसिल किया। ट्रेक एंड फील्ड प्रतियोगिताओं मे भारत का पहला स्वर्ण पदक है।

एशियन गेम्स 2018 मे उन्होंने 88.1 मीटर जैवलिन थ्रो कर स्वर्ण पदक जीता था।

2013 मे नेशनल यूथ चैम्पियनशिप मे उन्होंने सिल्वर मेडल जीता।

2017 मे एशियन जूनियर चैम्पियनशिप मे सिल्वर मेडल जीता।

2021 मे नेशनल जूनियर चैम्पियनशिप मे गोल्ड मेडल जीता है।

एथलेटिक्स मे इससे पहले अभिनव बिंद्रा ने 2008 मे शूटिंग मे स्वर्ण पदक जीता था।

भारतीय सेना मे जूनियर कमीशंड आफिसर ( सूबेदार ) के पद पर तैनात नीरज चोपडा़ का जन्म पानीपत हरियाणा मे हुआ था। आइये नीरज चोपडा़ के जीवन के बारे मे जानते है।

Neeraj Chopra Biography. Neeraj Chopra Bio / Wiki . नीरज चोपडा़।

नाम ( Neme ) : नीरज चोपडा़

उप नाम ( Nick Name ): गोल्डन ब्वॉय

जन्म : 24 दिसंबर 1997

माताजी का नाम : सरोज देवी

पिता का नाम : सतीश कुमार

जन्म स्थान ( Birth Place ) : कान्द्रा, पानीपत, हरियाणा , भारत

उम्र ( Neeraj Chopra age) : 24 वर्ष

ऊंचाई ( Neeraj Chopra height ) : 178 सेमी

वजन : 86 किलोग्राम

शिक्षा : डी.ए.वी. कालेज चंडीगढ़

खेल : जैवलिन थ्रो

मेडल : 1 गोल्ड मेडल

सर्वोच्च प्रदर्शन ( Neeraj Chopra Best throw ) : 88.1 मीटर

ब्यवसाय : भारतीय सेना मे सूबेदार

अवार्ड : विशिष्ट सेवा मेडल

नेट वर्थ ( Neeraj Chopra Net worth ): 2-3 मिलियन USD

शुरूआती जीवन ( Neeraj Chopra Early Life )

नीरज चोपडा़ पानीपत हरियाणा के रहने वाले है। उनके पिताजी एक किसान है। जो उनके पैतृक गांव कान्द्रा मे किसानी का काम करते हैं। उनकी माताजी हाउसवाइफ हैं।

नीरज चोपडा़ की दो बहनें भी हैं।

नीरज चौधरी का जैवलिन की और झुकाव 11 वर्ष की उम्र से रहा है। नीरज का वजन इस उम्र मे 80 किलोग्राम था। और अपने वजन को कम करने हेतु अपने गांव के नजदीक जिम जाया करते थे जहां पर वह 24 KM साइकिलिंग किया करते थे। जिम बेसिक टाइप का था, उन्हें यह पसंद नहीं आया। इसके बाद उनके पिता ने उनका एडमिशन पानीपत के दूसरे जिम मे करवाया जहां पर अपेक्षाकृत अधिक सुविधाएं थी।

बाद मे प्रेक्टिस के लिये वे पानीपत स्टेडियम जाने लगे। जहां पर वे जय चौधरी को प्रेक्टिस करते हुये देखते थे। यहीं से उनकी रूचि भी जैवलिन की ओर हुयी। यहां पर जयवीर सिह की नजर उन पर पड़ी। मजबूत कदकाठी, रूचि, और उनका परफार्मेंस देखकर जयवीर सिंह उनसे प्रभावित हुये। नीरज वहां पर बिना किसी ट्रेनिंग की के 40 मीटर थ्रो कर लेते थे। इसके बाद जयवीर सिंह ने उन्हें ट्रेनिंग देना शुरू की।

ओलंपिक गोल्ड मेडल के बाद मिलने वाली राशि:

गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज पर उनके इस विशिष्ट मेडल के लिए इनामों की बौछार होगी। उनको मिलने वाले प्रमुख इनाम निम्न है।

  • भारत सरकार की तरफ से 75 लाख रूपये
  • हरियाणा सरकार की तरफ से 6 करोड़ रूपये
  • पंजाब सरकार की तरफ से 2 करोड़ रूपये
  • भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की तरफ से 1 करोड़ रूपये।
  • मनीपुर सरकार की तरफ से 1 करोड़
  • चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से 1 करोड़
  • भारतीय ओलंपिक एशोसिएशन की तरफ से 75 लाख रूपये
  • इंडिगो एअरलाइंस की तरफ से एक साल तक अनलिमिटेड ट्रेवलिंग।

 

अवार्ड्स ( Neeraj Chopra Awards )

  • 2018 मे अर्जुन अवार्ड
  • 2021 मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरस्कार के लिये नामित

नीरज चोपडा़ की बायोग्राफी / नीरज चोपडा़ की जीवनी के बारे मे आपके कुछ विचार हो तो कमेंट्स के माध्यम से हमें बतायें।

और भी देखें :

स्वदेशी नेता राजीव दीक्षित की जीवनी।

नील पटेल की जीवनी। 

पुष्कर सिंह धामी की जीवनी। 

महाराणा प्रताप की जीवन गाथा।

पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ की जीवनी। 

 

ApnisiBaatey