ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्या है ? Oxygen Concentrator in Hindi

| |

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्या है ? Oxygen Concentrator in Hindi. जानिये इसके फायदे एवं नुकसान के बारे में।

oxygen concentrator in hindi
Oxygen Concentrator in Hindi

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर (Oxygen Concentrator in Hindi) एक मशीन है जिससे वायु या वातावरण मे मौजूद ऑक्सीजन को शुुुद्ध करके उपयोग मे लाया जा सकता है।

करोना की दूसरी लहर विकराल रूप लेती जा रही है। रोजाना 4 लाख से ऊपर आते केस समस्या को गंभीर बना रहे है। अस्पतालों मे बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन कमी हो रही है। ऐसे मे आपने ऑक्सीजन कंसंट्रेटर का नाम जरूर सुना होगा। अस्पतालों मे जगह नहीं है, इसलिये जो लोग होम आइसोलेशन मे रह रहे हैं उनके लिये ये बड़ी फायदेमंद साबित हो सकती है। आइये जानते है ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्या है ये कैसे काम करता है। इसके फायदे और नुकसान क्या है।

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर क्या है ? (Oxygen Concentrator in Hindi)

हवा मे ऑक्सीजन के साथ और भी कई तरह की गैसे होती है। ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की सहायता है वायु मे मौजूद ऑक्सीजन को शुुुद्ध रूप मे अलग कर लिया जाता है। यह एक मशीन है हवा को खींच कर उसमे से शुुुद्ध ऑक्सीजन को सप्लाई करती है।

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के फायदे :

  • करोना के वे मरीज जो होम आइसोलेशन मे है वे इसका फायदा ले सकते हैं।
  • बिना किसी एडीशनल सपोर्ट के ये लगातार ऑक्सीजन सप्लाई कर सकता है।
  • अच्छा कंसंट्रेटर एक मिनट मे 10 लीटर तक आक्सीजन सप्लाई कर सकता है।
  • आक्सीजन सिलेंडर की तरह इसे बार बार रिफिलिंग की आवश्यकता नहीं होती है।
  • बिजली के अलावा इसे इन्वर्टर पर भी चलाया जा सकता है।
  • इसके रखरखाव एवं ट्रांसपोर्टेशन का खर्चा न के बराबर है।

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के नुकसान:

  • करोना के गंभीर मरीजों के लिये यह उपयोगी नहीं है। उन्हें प्रति मिनट 40-50 लीटर आक्सीजन की जरूरत होती है। कंसंट्रेटर 5-10 लीटर ऑक्सीजन सप्लाई करता है।
  • आक्सीजन सिलेंडर से महंगा पडता है एक कंसंट्रेटर की कीमत 50 हजार से एक लाख रुपये तक होती है।
  • कंसंट्रेटर से प्राप्त आक्सीजन 75 से 85% शुुुद्ध आक्सीजन सप्लाई करता है जबकि आईसीयू मे 98% तक शुुुद्ध आक्सीजन सप्लाई होती है।

अच्छे ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की विशेषता:

आक्सीजन की शुद्धता:

मेडिकल ग्रेड की आक्सीजन 95-98 % तक शुद्ध होती है। उच्च शुुुद्धता की आक्सीजन सप्लाई करने वाला कंसंट्रेटर सही होता है।

फ्लो रेट :

फ्लो रेट यानि यह एक मिनट मे कितने लीटर आक्सीजन की सप्लाई मरीज तक कर सकता है। अच्छे कंसंट्रेटर मे यह 5 से 10 लीटर प्रति मिनट होता है। यह अलग अलग फ्लो रेट मे आता है।

पोर्टेबिलिटी:

कंसंट्रेटर को ले जाने लाने मे आसानी होनी चाहिए। इसे बहुत अधिक भारी भी नहीं होना चाहिए। कंसंट्रेटर का फ्लो रेट जितना अधिक होगा, यह उतना अधिक भारी होगा। इसलिए यह फ्लो रेट पर निर्भर करता है। बाजार मे 5-10 किलो के कंसंट्रेटर भी उपलब्ध है।

यह लेख (Oxygen Concentrator in Hindi) केवल जानकारी के लिये लिखा गया है। हर मरीज की आक्सीजन की आवश्यकता अलग अलग होती है अतः कंसंट्रेटर एक बार अपने डाक्टर से पराामर्श अवश्य कर लेें।

और देखें:

फास्टैग क्या है और इसके फायदे क्या हैं।

टॉप 7 फिटनेस टिप्स।

अकेले रहने के 8 फायदे।

 

ApnisiBaatey