पुष्कर सिंह धामी की जीवनी। Pushkar Singh Dhami Biography in Hindi

| |

पुष्कर सिंह धामी का बायो। Pushkar Singh Dhami Biography in Hindi.

Pushkar singh dhami biography in hindi
Pushkar singh dhami biography in hindi

पुष्कर सिंह धामी (Pushkar singh dhami biography in hindi) उत्तराखंड मे खटीमा से भाजपा विधायक है। पुष्कर सिंह धामी की उम्र 45 वर्ष हैं और वह उत्तराखंड के सबसे कम उम्र मे बनने वाले मुख्यमंत्री है। इससे पहले रमेश पोखरियाल निशंक के नाम सबसे कम उम्र 49 वर्ष मुख्यमंत्री बनने का रिकॉर्ड था।

वह तीरथ सिंह रावत के बाद उत्तराखंड के 11वें मुख्यमंत्री के रूप मे शपथ लेंगे। वह इस वक्त खटीमा से दूसरी बार विधायक बने है और उन्होंने प्रदेश मे अभी तक कोई पद नहीं संभाला है। वे खटीमा से पहले 2012 और फिर 2016 मे विधायक निर्वाचित हुये है।

पुष्कर सिंह धामी पिथौरागढ़ जिले के हरखोला, कनालीछीना गांव के रहने वाले है। उन्होंने अपनी राजनीति कुमाऊं के प्लेन एरिया खटीमा से शुरू की।

पुष्कर सिंह धामी का जीवन परिचय: ( Pushkar Singh Dhami Biography in Hindi)

पूरा नाम : पुष्कर सिंह धामी

जन्म : 16 सितंबर 1975

जन्म स्थान : पिथौरागढ़

पत्नी का नाम: गीता धामी

बच्चे : 2 पुत्र

राजनीतिक पार्टी: भारतीय जनता पार्टी

शिक्षा : एल.एल.बी., डिप्लोमा इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन

विश्वविद्यालय: लखनऊ विश्वविद्यालय

धामी के पिताजी भारतीय सेना मे सुबेदार के पद से रिटायर हुये हैं।

राजनैतिक कैरियर:

पुष्कर सिंह धामी ने अपने राजनैतिक केरियर की शुरुआत राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक के रूप मे की है। वे लगभग 10 वर्षों तक संघ के साथ कार्य करते रहे है।

वर्ष 2002 मे भाजपा के स्टेट इलेक्शन हारने के बाद वे भारतीय जनता युवा मोर्चा के 2002- 2008 मे लगातार दो बार अध्यक्ष बने।

पुष्कर सिंह धामी भारतीय जनता पार्टी की स्टूडेंट विंग अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ( ABVP ) से वर्ष 1990 से ही जुडे़ रहे है। वे वर्ष 2002- 2008 मे भारतीय जनता युवा मोर्चा के उत्तराखंड के अध्यक्ष रहे हैं। वे भाजपा के निवर्तमान मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की जगह कार्य भार संभालेंगे। वह प्रदेश मे भाजपा के चार महीनों के भीतर बनने वाले तीसरे मुख्यमंत्री है। इससे पहले त्रिवेन्द्र सिंह रावत और तीरथ सिह रावत मुख्यमंत्री रहे हैं।

धामी वर्ष 2002 मे तत्कालीन मुख्यमंत्री भगतसिंह कोश्यारी के समय आफिसर आन स्पेशल ड्यूटी ( OSD ) के पद पर रहे। उन्हें भगत सिंह कोश्यारी का नजदीकी माना जाता है। वे केन्द्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के भी करीबी रहे हैं।

उन्होंने वर्ष 2012 मे कांग्रेस के भुवन कापडी को पराजित किया था जिन्हें गांधी फैमिली का करीबी माना जाता है।

धामी को राज्य की समस्याओं की अच्छी समझ है। उनके अनुसार शिक्षित युवाओं की बेरोजगारी राज्य की मुख्य समस्या है। उन्होंने गांवों से युवाओं का पलायन को भी मुख्य समस्या के रूप मे बताया है।

और देखें:

महाराणा प्रताप की जीवनी।

पुष्पेन्द्र कुलश्रेष्ठ की जीवनी। 

कृष्णा एल्ला की जीवनी।

बाबा साहब अंबेडकर की जीवनी।

जया किशोरीजी का जीवन परिचय।

ApnisiBaatey