राकेश झुनझुनवाला की जीवनी।Rakesh Jhunjhunwala Biography in Hindi

| |

Rakesh Jhunjhunwala Biography in Hindi. Rakesh Jhunjhunwala Age, Wife, Family, Net Worth.

Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi
Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi

 

राकेश झुनझुनवाला की जीवनी।

राकेश झुनझुनवाला ( Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi) एक इन्वेस्टर हैं जिन्हें हम बिग बुल या भारतीय वारेन वफेट के नाम से भी जानते हैं। इनका जन्म 5 जुलाई 1960 को मुंबई मे हुआ था।

आइये जानते है राकेश झुनझुनवाला के जीवन के बारे मे,

 

पूरा नाम : राकेश झुनझुनवाला

उप नाम: बिग बुल, किंग आफ शेयर मार्केट

ब्यवसाय: ट्रेडर, इन्वेस्टर

जन्म तिथि : 05 जुलाई 1960

पिता : राधेश्याम झुनझुनवाला

माता : उर्मिला झुनझुनवाला

उम्र ( 2020 मे ) : 60 वर्ष

जन्म स्थान: तेलंगाना, हैदराबाद।

राष्ट्रीयता: भारतीय

शिक्षा : सिंदहैम कालेज से बी.काम., चाटर्ड अकाउंटेंट

पत्नी : रेखा झुनझुनवाला

बच्चे : नताशा झुनझुनवाला, आर्यमान तथा आर्यवीर झुनझुनवाला

भाई : राजेश झुनझुनवाला

बहन : सुधा गुप्ता, नीना संगेरिया

नेटवर्थ :  19000 करोड़ रूपये।

 

शुरूआती जीवन: ( Early Life- Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi )

राकेश झुनझुनवाला के पिताजी इन्कम टैक्स डिपार्टमेंट मे सर्विस करते थे। वे प्रायः अपने मित्रों के साथ शेयर मार्केट के के बारे मे बातें किया करते थे। पिता को देखकर शेयर मार्केट मे इंटरेस्ट जागा। पिता से शेयर मार्केट के उतार चढाव के बारे मे पूछ लिया, पिताजी ने कहा “न्यूज़ पढा कर”। यह उनके शेयर मार्केट के बारे मे पहला पाठ था। इसके बाद उनकी शेयर मार्केट रूचि बढी, उन्होंने अलग अलग कंपनियों के बारे पढना शुरू कर दिया।

ग्रेजुएट होने पर उन्होंने अपने पिताजी से शेयर मार्केट मे ट्रेडिंग करने की इच्छा जताई, पिता ने कहा पहले वह अपनी पढाई पूरी कर ले उसके बाद जो करना है वो करे। इसके बाद वे अपनी सी.ए.की पढाई मे लग गये।

पहला इन्वेस्टमेंट: First Investment

सी.ए. की पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने शेयर मार्केट मे काम करने का मन बनाया , लेकिन पिताजी ने पैसा देने से इन्कार कर दिया। इसके बाद उन्होंने किसी तरह अपने बचत के पैसों से 5000 रूपये इकट्ठा करके शेयर मार्केट मे अपना पहला निवेश किया।

पहला बड़ा प्रोफिट:( First Profit-Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi.)

उन्होंने टाटा टी कंपनी के 5000 शेयर 43 रूपये के हिसाब से खरीद कर उन्हें तीन महीने बाद 143 रूपये मे बेच दिये। इस तरह से उन्हें 5 लाख रुपये का पहला बडा प्रोफिट हुआ।

उन्होंने वर्ष 2002-03 मे टाइटन कंपनी के शेयर 3 रुपये के हिसाब से 6करोड़ शेयर खरीदे, शेयर का भाव 390 रुपये होने पर उनकी इन्वेस्टमेंट बढकर 2100 करोड़ रुपये हो गई।

राकेश झुनझुनवाला की सफलता ( Rakesh Jhunjhunwala Success- Rakesh Jhunjhunwala Biography in hindi.)

हालांकि शेयर बाजार मे उन्हें टफ टाईम का सामना भी करना पडा़, कई बार उन्हें नुकसान भी उठाना पडा़ लेकिन अपनी गलतियों से सीखकर उन्होंने सफलता हांसिल की।

राकेश हमेशा से कहते रहे हैं हमे अपनी गलतियों से ही सब कुछ सीखना चाहिए। उन्हें भी उनकी गलतियों की वजह से ही बहुत कुछ सीखने को मिला है।

उन्होंने अपनी मेहनत और काबिलियत के बलबूते पर आज शेयर मार्केट किंग का तमगा हांसिल कर लिया है। आज वे हंगामा डिजिटल मीडिया एंटरटेनमेंट प्रा. लिमिटेड और एप्टेक लिमिटेड के चेयरमैन हैं। आज वे भारत के 48वें सबसे अमीर ब्यक्ति बन गये है। आज वे भारत के सबसे बड़े इन्वेस्टर और शेयर ट्रेडर बन गये हैं। आज बहुत से लोगों के लिए वे एक मिसाल बन गये है। उन्हें भारत का वारेन बफेट भी कहा जाने लगा है।

और देखें:

आचार्य बालकृष्ण की जीवनी।

लक्ष्मी मित्तल की जीवनी।

अदार पूनावाला जीवन परिचय।

सायरस पूनावाला का जीवन परिचय।

ApnisiBaatey