Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi. रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय।

| |

रवि कुमार दहिया का जीवन परिचय, कुश्ती, ओलंपिक 2021, सिल्वर मेडल, रवि कुमार दहिया की जीवनी, शादी, बायोग्राफी, जाति, धर्म, नेटवर्थ। Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi, Jivan Parichay, Jivani in Hindi, Wrestling, Olympic 2021, Silver Medal, Cast, Religion, Networth.

Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi
Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi

Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi – बेहद प्रतिभाशाली रवि कुमार दहिया भारतीय फ्री स्टाइल पहलवान है। वे अभी सिर्फ 23 साल के हैं, और उन्होंने अपनी प्रतिभा की झलक टोकियो ओलंपिक 2021 मे दिखा दी है, जहां पर हुये फायनल मुकाबले मे उन्होंने सिल्वर मेडल हांसिल किया।

भारत को अपने इस होनहार पहलवान से भविष्य मे बहुत उम्मीदें हैं। इनके कुश्ती लड़ने का तरीका अलग ही हैं ये अपोनेंट पहलवान को अपने उपर हावी नहीं होने देते है। तो आइये दोस्तों रवि कुमार दहिया के जीवन ( Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi ) और उनके खेल जीवन के बारे मे कुछ और जानते है।

रवि कुमार दहिया की जीवनी / बायोग्राफी ( Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi)

नाम ,Name : रवि कुमार दहिया

उप नाम, Nick Name : मोनू

जन्म, Birth : 12 दिसंबर 1991

उम्र, Age : 23 वर्ष ( In 2021 )

जन्मस्थान, Birth Place : सोनीपत , हरियाणा, भारत

पिता Father : राकेश दहिया, किसान

माता , Mother : उर्मिला देवी , गृहिणी

विवाह , Marital Status : अविवाहित

गृहनगर, Hometown : सोनीपत , हरियाणा, भारत

कद , Height : 5 फिट 7 इंच , 173 सेमी.

वजन , Weight : 57 kg

शिक्षा, Education : –

कालेज , College, University : –

राशि : धनु

जाति Caste : जाट

राष्ट्रीयता, Nationality : भारतीय

ब्यवसाय , Profession : फ्री स्टाइल कुश्ती

कोच, Coach : सतपाल सिंह

पसंदीदा एथलीट , Favorite Athlete : शुशील कुमार

नेटवर्थ, Networth : ज्ञात नहीं

Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi
Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi

रवि कुमार दहिया का शुरुआती जीवन: ( Ravi Kumar Dahiya Early Life-Ravi Kumar Dahiya Biography in Hindi )

रवि कुमार दहिया एक गरीब किसान राकेश दहिया के बेटे हैं। राकेश दहिया के पास जमीन नहीं है वे दूसरे के खेतों मे किसानी करके अपनी आजीविका चलाते हैं। रवि दहिया को कुश्ती का शौक बचपन से ही था। पिता राकेश दहिया ने अपनी गरीबी को बेटे के शौक के आडे नहीं आने दिया। बेटे की डाइट मे कोई कमी न हो इसके लिए पिता अपने गांव नाहरी से 40 किलोमीटर दूर दिल्ली छत्रसाल स्टेडियम फल देने आते थे। कुश्ती का जुनून रवि दहिया के अंदर था और टोक्यो ओलंपिक मे उन्होंने इसे साबित कर दिखाया जब उन्होंने वहां सिल्वर मेडल जीता।

रवि कुमार दहिया का कैरियर : ( Ravi Kumar Dahiya Career )

रवि कुमार दहिया की ट्रेनिंग दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम मे हुयी, जहां पर उन्होंने सतपाल सिंह की देखरेख मे कुश्ती के गुर सीखे। आइये उनके पहलवानी कैरियर पर एक नजर डालते हैं।

  • पहलवान रवि कुमार दहिया ने अपने पहलवानी कैरियर की शुरुआत साल 2015 मे हुये विश्व जूनियर कुश्ती चैम्पियनशिप से की और 55 kg भार वर्ग मे रजत पदक जीता।
  • साल 2017 मे रवि दहिया के चोटिल हो जाने से उन्हें काफी समय तक कुश्ती रिंग से बाहर रहना पड़ा। साल 2018 मे उन्होंने अंडर 23 प्रतियोगिता मे 57 kg भार वर्ग मे रजत पदक जीता।
  • साल 2018 मे विश्व कुश्ती चैम्पियनशिप मे उन्होंने 57 किलोग्राम भार वर्ग मे कांस्य पदक जीता।
  • साल 2020 मे दिल्ली मे आयोजित एशियाई कुश्ती प्रतियोगिता मे स्वर्ण पदक जीता।

रवि कुमार दहिया टोकियो ओलंपिक  2021 मे : ( Ravi Kumar Dahiya in Tokyo Olympic 2021 )

पुरुषों की 57 kg केटेगरी मे Olympic 2021 मे भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया ने फायनल मे अपनी जगह बना ली थी। अब उनका एक मेडल तो पक्का हो गया था। Tokyo Olympic के क्वार्टर फायनल मे उन्होंने बल्गेरियाई पहलवान जोर्डी बेंगलोव को 14-4 से कड़ी शिकस्त दी। सेमीफाइनल मे कजाकिस्तान के पहलवान सनायेव को हराकर फायनल मे अपनी जगह बनायी लेकिन फायनल मैच वे जीत हांसिल न कर पाये और उन्हें सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा।

रवि कुमार दहिया के बारे मे कहा जाता है कि उनके पंच और मूव बहुत शानदार होते है। वह अपने विरोधी को बहुत दमदार तरीके से काउंटर करते है। करोड़ो भारतीयों की अपेक्षा उनसे जुडी हुयी है।

और देखें :

बजरंग पूनिया का जीवन परिचय। 

खुशी पंजाबन की जीवनी। 

स्वरा भास्कर की जीवनी।

ओलंपिक मेडलिस्ट नीरज चोपडा़ की जीवनी। 

स्वदेशी नेता राजीव दीक्षित की जीवनी। 

ApnisiBaatey