बेहद पावरफुल है अवचेतन मन। Subconscious mind in Hindi.

| |

बेहद पावरफुल है अवचेतन मन। अवचेतन मन की शक्ति। Subconscious Mind kya hai. Subconscious mind in Hindi.

Subconscious mind in hindi
Subconscious mind in hindi

दोस्तों हमारे चेतन मन की अपेक्षा अवचेतन मन की शक्ति  (Subconscious mind in hindi) बहुत अधिक है। चेेेतन मन जहां 10% हिस्से मे प्रभावशाली है वहीं सब कांशस माइंड यानि अवचेतन मन 90% हिस्से मे प्रभावशाली है। कहने का मतलब ये है कि हमारा अवचेतन मन चेतन मन से बहुत अधिक शक्तिशाली है। जो लोग इन दोनों की सम्मिलित शक्ति का उपयोग करते हैं उन्हें सफलता प्राप्त करने से दुनियां की कोई ताकत नहीं रोक सकती है। तो दोस्तों पहले जानते है चेतन मन ( Conscious Mind) और अवचेतन मन क्या है ( Subconscious Mind kya hai- Subconscious mind in hindi)।

चेतन मन क्या है ? (Conscious Mind)

हम अपने दैनिक जीवन मे जो भी कार्य करते हैं, सोचते है, निर्णय करते हैं या फिर तर्क करते हैं या सही गलत का फैसला करते है सब चेतन मन यानि कांशस माइंड करता है। यह 10% भाग मे प्रभावशाली है यह सोच सकता है प्लान कर सकता है और इसकी शार्ट टर्म मेमोरी भी होती है। चेतन मन हमको बाहरी दुनियां से कनेक्ट करता है।

अवचेतन मन क्या है ? (Subconscious Mind kya hai- Subconscious mind in hindi )

हम रोजाना कुछ काम बहुत ही आसानी से कर लेते है जैसे ब्रश करना चाय पीना या फिर न्यूज पेपर पढ़ना इसमे हमे कोई मेहनत नहीं करनी पड़ती है। वहीं कुछ काम ऐसे भी हैं जिसे हम बंद आंखों से भी कर सकते है जैसे पानी पीना, सांस लेना, बातें करना इत्यादि। ये सब इसलिये हो पाता है ये सभी आदत के रूप मे डेवलप हो गयी है और इन सबके फुटप्रिंट्स हमारे अवचेतन मन मे पडे़ है।

इसको एक और उदाहरण से समझते है , क्रिकेट मे 120-130 किलोमीटर की रफ्तार से आते हुये बाउंसर को बल्लेबाज हिट कर पाता है क्योंकि उसको इसकी आदत होती है। इसमे अगर चेतन मन काम करे तो जब तक वह इसे खेलने की सोचेगा और हिट करने के लिए अपना हाथ उपर करेगा तब तक गेंद उसका जबड़ा तोड चुकी होगी। खिलाड़ियों को बार बार खेलने की प्रेक्टिस इसीलिये करवायी जाती है जिससे उनको इसकी आदत हो जाये। किसी भी आदत का होना यानी उसके फुटप्रिंट्स हमारे सब कांशस माइंड मे छप जाते हैं ताकि फिर से समान सिचुएशन आने पर अवचेतन मन उसका हल सामने रख देता है।

अवचेतन मन 90% हिस्से मे काम करता है। इसकी मेमोरी बहुत ज्यादा होती है। अवचेतन मन केवल इमोशंस की भाषा समझता है। आदत,  इमोशंस और अवचेतन मन मे काफी क्लोज कनेक्शन है, इसी लिये कोई भी आदत बनाने के लिए उसके साथ इमोशंस जोड़ना जरूरी है। आदत के साथ इमोशंस जोडने पर ही इसे अवचेतन मन मे एंट्री मिल पाती है।

दोस्तों अवचेतन मन ( Subconscious mind kya hai/ Subconscious mind in hindi) क्या है अभी तक आपको समझ आ गया होगा।

आइये अब जानते हैं दोनों मे अंतर क्या है,

चेतन और अवचेतन मन मे अंतर ( Difference between Conscious mind and Subconscious mind- Subconscious mind in hindi.)

  • चेतन मन लाजिकल और बौद्धिक क्रियाओं को सम्पन्न करता है जबकि अवचेतन मन फिजिकल क्रियाओं को पूरा करता है।
  • डिसीजन मेकिंग, प्लानिंग आदि क्रियाओं पर चेतन मन का कंट्रोल रहता है जबकि सांस लेना, डाईजेशन, फीलिंग, इमोशंस, मेमोरी , विश्वास, एटीट्यूड आदि अवचेतन मन से कंट्रोल होती है।
  • चेतन मन 10% हिस्से मे काम करता है जबकि अवचेतन मन 90% हिस्से मे काम करता है।
  • चेतन मन की मेमोरी शार्ट टर्म होती है जबकि अवचेतन मन की लांग टर्म मेमोरी होती है।

अवचेतन मन के कुछ महत्वपूर्ण तथ्य ( Some important facts about Subconscious mind- Subconscious Mind in Hindi)

  • यह हर चीज को रिकॉर्ड करता है,
  • यह हमेशा अलर्ट रहता है।
  • यह चेतन मन से 10 लाख गुना शक्तिशाली है।
  • यह हमारे जीवन की 95% घटनाओं को कंट्रोल करता है।
  • इसकी कोई शाब्दिक भाषा नहीं है।
  • यह केवल सपनों के माध्यम से आपसे बात करता है।
  • यह बहुत तेज होता है यह एक बार मे एक ट्रिलियन यानि 10 लाख करोड़ चीजों को सम्पन्न कर सकता है।
और देखें:

5 बेहतरीन बुक्स, आपको जरूर पढ़नी चाहिए।

वाणी की मधुरता : सफलता की कुंजी।

विश्वास की चमत्कारिक शक्ति।

आत्मविश्वास बढाने के 8 तरीकें।

खुशहाल जीवन के 7 सुझाव।