जानिए क्या है सुकन्या समृद्धि योजना-Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi

| |

जानिए क्या है सुकन्या समृद्धि योजना और इसका लाभ कैसे ले सकते हैं। Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi

Sukanya Samriddhi Yojana in hindi
Sukanya Samriddhi Yojana in hindi

सुकन्या समृद्धि योजना ( Sukanya Samriddhi Yojana in hindi) भारत सरकार द्वारा देश की बेटियों के भविष्य को उज्जवल बनाने हेेेेतु चलायी जा रही योजनाओं मे से एक है। आज मै आपको सुकन्या समृद्धि योजना से संबंधित सभी जानकारी देने जा रहा हूं जैसे सुकन्या समृद्धि योजना क्या है, इसे उद्देश्य और लाभ क्या हैं, इसकी पात्रता, महत्त्वपूर्ण दस्तावेज, और निकासी इत्यादि।

सुकन्या समृद्धि योजना क्या है ? ( What is Sukanya Samriddhi Yojana- Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

सुकन्या समृद्धि योजना को जनवरी 2015 मे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने शुरु किया था। इस योजना मे वे माता पिता जिनकी बेटियां 10 साल या उससे कम उम्र की है इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसमे माता पिता पोस्ट आफिस या राष्ट्रीयकृत बैंक मे बेटी के लिए बचत खाता खोल सकते हैं। खाता खोलने के लिए न्यूनतम राशि 250 रुपये और अधिकतम राशि 1.5 लाख रूपये है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 8.6 % की दर से ब्याज मिलता है।

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य (Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

इस योजना का उद्देश्य बेटियों की शिक्षा के लिए और उनके विवाह हेतु पैसा इकट्ठा करना है ताकि आवश्यकता आने पर उनकी शिक्षा और धन की कमी न आने पाये। देश का गरीब वर्ग भी बेटियों की पढाई और उनके विवाह पर होने वाले खर्च को पूरा कर सकते हैं। इससे बेटियों को को प्रोत्साहन मिलेगा और वे आगे बढ सकेंगी।

सुकन्या समृद्धि योजना की पात्रता और महत्वपूर्ण दस्तावेज(Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

इस योजना के अंतर्गत 0 से लेकर 10 वर्ष तक की बेटी के लिये अकाउंट खोल सकते है। 10 वर्ष से अधिक आयु की बेटी के लिए यह खाता नहीं खोल सकते है। बैंक खाते का संचालन बेटी के माता पिता या अभिभावक कर सकते है। इस योजना के अंतर्गत माता पिता या अभिभावक दो बेटियों के लिये अकाउंट खोल सकते हैं। बेटियां जुड़वां होने पर तीन बेटियों के नाम से खाता खोल सकते है। उन्हें बेटियों के जुड़वां होने का प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा।

इसमे माता पिता या अभिभावक का आधार कार्ड, माता पिता और बालिका का फोटो, बालिका का जन्म प्रमाण पत्र, माता पिता या अभिभावक का पैन कार्ड जरूरी है।

सुकन्या समृद्धि योजना मे आंशिक निकासी और परिपक्वता ( SSY Partial withdrawal and Maturity -Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

इस योजना को माता पिता बालिका के 18 वर्ष के बाद या 21 वर्ष होने के बाद विवाह होने तक चला सकते है। 18 वर्ष होने पर लडकी की पढाई के लिए कुल जमा रकम का 50% निकाल सकते हैं। यह खाता बेटी के 21 साल पूर्ण होने पर परिपक्व हो जाता है। माता पिता बेटी के 21 साल पूर्ण होने पर विवाह के लिए पूरा पैसा निकाल सकते है, इसमे कुल जमा रकम और और मिलने वाले ब्याज की राशि शामिल होगी।

यदि खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो इस खाते को बंद कराया जा सकता है। इस स्थिति मे खाताधारक की मृत्यु का प्रमाणपत्र दिखाना अनिवार्य होगा। खाते मे कुल जमा राशि और उसका ब्याज बेटी के अभिभावक को दिया जाता है।

इसके अलावा भी इस खाते को 5 वर्ष पूर्ण होने पर बंद कराया जा सकता है इस अवस्था मे खाते मे जमा रकम और सेविंग अकाउंट जितना ब्याज मिलता है जो लगभग 4% ही है।

सुकन्या समृद्धि खाते मे रकम जमा न कर पाने की स्थिति मे क्या होगा (Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

यदि किसी कारणवश सुकन्या समृद्धि खाते मे रकम न जमा कर पाये उसे 50रूपये सालाना पेनल्टी के साथ हर साल की न्यूनतम राशि का भुगतान करना होगा।

सुकन्या समृद्धि योजना मे टैक्स लाभ ( Tax Benefits in SSY)

आयकर की धारा 80C के तहत प्रतिवर्ष 150000 तक की राशि पर टैक्स छूट मिलती है। सुकन्या समृद्धि योजना मे ब्याज की राशि ,मेच्योरिटी अमाउंट को टैक्स फ्री किया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना के मुख्य बिन्दु ( SSY Main Points-Sukanya Samriddhi Yojana in hindi.)

इस योजना को सरकार द्वारा बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिये आरंभ किया गया है। इस योजना की मुख्य बिंदु निम्न प्रकार हैं,

  • इस योजना मे 0 से 10 साल की बेटियों के लिए अकाउंट खुलवाया जा सकता है
  • यह खाता किसी राष्ट्रीयकृत बैक या फिर पोस्ट आफिस मे खोला जा सकता है।
  • इस योजना के तहत अधिकतम दो बेटियों के लिये खाता खोला जा सकता है।
  • इस योजना मे न्यूनतम 250 रुपये अधिकत 1.5 लाख रूपये सालाना जमा किये जा सकते हैं।
  • इस योजना मे इन्कम टैक्स की धारा 80C के तहत छूट का प्रावधान है।
  • इस योजना मे 7.6% सालाना ब्याज की दर निर्धारित की गयी है।
  • बेटी की उच्च शिक्षा के लिये 50% तक की रकम निकाली जा सकती है।
  • इस योजना मे मेच्योरिटी पर मिलने वाली रकम और ब्याज टैक्स फ्री है।

दोस्तों आशा करत हूं ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी। जिन दोस्तों की बेटियां 10 वर्ष से कम उम्र की है उन्हें इस योजना के बारे मे अवश्य सोचना करना चाहिए। अपने विचार कमेंट बाक्स मे जरूर बतायें।

और देखें:

पैसे बचाने के आसान तरीके।

पर्सनल फाइनेंस क्या है जानें।

ApnisiBaatey