CEO of Google and Alphabate-Sundar Pichai – Motivational Story Hindi- सुन्दर पिचाई

| |

सुंदर पिचाई

 

Sundar Pichai Google CEO के नाम से आज भला कौन अवगत नहीं है, लेकिन अगस्त 2015 जब Google ने उनके नाम की घोषणा CEO के लिये की, भारतीयों के लिये किसी अचंभे से कम नहीं था। Google मे एक Product manager से CEO बनने तक की कहानी काफी प्रेरणादायी है। आईये भारतीय अमेरिकी सुंदर पिचाई के जीवन और उपलब्धियों पर एक नजर डालते है।

sundar pichai
sundar pichai motivational story hindi

प्रारंभिक जीवन – Early Life

Sundar Pichai का पूरा नाम पिचाई सुंदरराजन ( Pichai Sundararajan ) है। उनका जन्म मदुरै तमिलनाडु मे 12 July 1972 को निम्न मध्यम परिवार मे हुआ था। उनके पिताजी का नाम रघुनाथ पिचाई न माताजी का नाम लक्ष्मी पिचाई है। उनके पिता इलैक्ट्रीकल इंजिनियर एवं माता जी स्टेनोग्राफर थी।

टेक्नोलॉजी से जुड़ने की प्रेरणा उन्हें अपने पिताजी से मिली। नम्बरों को याद रखने की उनमे असाधारण प्रतिभा थी।एक बार उनके पिताजी घर मे एक लैंडलाइन फोन लेकर आये। टैक्नोलॉजी से जुड़ी पहली चीज उनके घर मे आयी थी और वह उन्हें बहुत आकर्षित करती थी यहां तक की उसमे डायल किए सभी नम्बर्स उन्हें याद रहते थे।

शिक्षा – Education

Sundar Pichai ने 12 वीं की परीक्षा वाना वाणी स्कूल चेन्नई से की उसके बाद मैटर्लाजिकल इंजीनियरिंग मे ग्रेजुएशन IIT Kharagpur से की। उसे बाद स्टैनफोर्ड युनिवर्सिटी से भौतिक विज्ञान मे MS ( Master of Science ) की डिग्री पूरी की। तत्पश्चात MBA की पढाई के लिए University of Pennsylvania चले गये।

गूगल के साथ सुंदर पिचाई – Sundar Pichai with Google

Sundar Pichai ने अपने कैरियर की शुरुआत मैकेंजी एंड कम्पनी मे की। वर्ष 2004 मे Sundar Pichai गूगल से जुड़े।शुरुआत उन्होंने गूगल सर्च टूलबार डेवलप करने वाली छोटी टीम के साथ की। इस टूलबार की मदद से आज हम इंटरनेट एक्सप्लोरर और फायरफॉक्स को आसानी से एक्सेस कर पाते है।

उसके बाद उन्होंने गूगल पैक और गूगल गियर्स नाम से दूसरे प्राडक्ट भी डेवलप किये। गूगल टूलबार की सफलता से उनके मन मे अपना एक ब्राउजर विकसित करने का आइडिया आया। उन्होंने इसे उस समय के गूगल सी. ई. ओ. एरिक सच्मिद्ज के साथ के सामने रखा लेकिन सहमति नहीं बन पायी। एरिक का कहना था अपना ब्राउजर डेवलप करना बहुत मंहगा साबित होगा। बाद मे उनकी गूगल को फाउंडर्स लैरी पेज व सर्गेई ब्रिन के साथ अपना ब्राउजर बनाने पर सहमति बन पायी। बाद मे उन्होंने google crome नामक ब्राउजर डेवलप किया जिससे हमलोग भलिभांति परिचित है। आज google crome दुनियां का सबसे अधिक इस्तेमाल किये जाने वाला वेब ब्राउज़र है।

sundar pichai
Sundar Pichai motivational story in Hindi

वर्ष 2008 मे Sundar Pichai का प्रमोशन वाइस प्रेसिडेंट आफ प्रोजेक्ट डेवलपमेंट के रूप मे हुआ और वर्ष 2012 मे वे crome और apps के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट बन गये। वर्ष 2014 मे उन्हें एंड्रॉयड का प्रोडक्ट चीफ बना दिया गया।

वर्ष 2015 मे सुन्दर पिचाई को Google का CEO घोषित किया गया।

दिसम्बर 2017 में सुन्दर पिचाई चीन में विश्व इंटरनेट सम्मलेन में भाग लेने गए थे वहां उन्होंने कहा था ” गूगल का काम चीनी कंपनियों की मदद करना है. चीन में कई छोटे और मझोले आकर के बिज़नेस है जो गूगल का लाभ उठाते है चाइना के बहार कई देशो में उनके उत्पाद मिलते है “। 

निजी जीवन -Personal Life

IIT Kharagpur मे लम्बे समय तक अपनी दोस्त रही अंजली पिचाई से उन्होंने शादी की। उनके दो बच्चे है काव्य पिचाई और किरण पिचाई।

वर्तमान मे वे अपने परिवार के साथ न्यूयार्क मे रहते हैं।

दिसंबर 2019 में, पिचाई अल्फाबेट इंक के सीईओ बन गए

 

यह पोस्ट आपको कैसी लगी। कृपया कमेंट बाक्स में कमेंट जरूर करे। आपके कमेंट और सुझावों का स्वागत है।

और भी पढ़ें :

रतन टाटा – भारतीय उद्योगपति, Ratan Tata – Indian Industrialist.

बिल गेट्स – Motivational Story in Hindi-Bill Gates.

स्टीव जॉब्स – Steve Jobs Motivational story in Hindi.

जेफ बेजोस – Jeff Bezos Motivational story in Hindi.

जैक मा – Jack Ma Motivational story in Hindi.

2 thoughts on “CEO of Google and Alphabate-Sundar Pichai – Motivational Story Hindi- सुन्दर पिचाई”

Comments are closed.

ApnisiBaatey